SEO kya hai (What is SEO) तथा SEO के क्या फायदे हैं ?

SEO kya hai इसकी जानकारी प्रत्येक ब्लॉगर के पास होना अति आवश्यक है क्योंकि SEO ही आपके द्वारा लिखे गए blogs को गूगल में रैंक करने में help करता है | यदि आपके पास SEO (Search Engine Optimization) की जानकारी नहीं है तो blogging में आपकी सफलता के chances काफी कम हो जाते हैं जिसकी बजह से कई ब्लॉगर इस क्षेत्र में असफल हो जाते हैं |

आज के इस आर्टिकल में हम अपने readers को SEO से सम्बंधित जानकारी जैसे SEO kya hai, SEO के क्या फायदे हैं तथा अपने लिखे गए blogs के लिए SEO कैसे करें के साथ साथ सम्बंधित कई जानकारियां देने वाले हैं | यदि आप भी एक ब्लॉगर हैं और निरन्तर blogging करते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें |

SEO का फुल फॉर्म क्या है ?

S – Search

E – Engine

O – Optimization

SEARCH ENGINE OPTIMIZATION

SEO Kya Hai (SEO क्या है) ?

अपने ब्लॉग या आर्टिकल में प्रयोग किये गए keywords को किसी भी search engine जैसे Google, Wing , Yahoo इत्यादि में top ranking पर रखने के लिए विशेष प्रकार कि तकनीक का प्रयोग किया जाता है जिसे SEO (Search Engine Optimization) कहा जाता है | इस तकनीक का प्रयोग कर अपने द्वारा लिखे गए blogs या किसी भी पेज को आप किसी भी search engine में top rank पर रख सकते हैं |

चलिए उदाहरण से समझते हैं कि blogging में Search Engine Optimization का क्या role है | मान लीजिए कि आप गूगल में कुछ भी जानकारी search करना चाहते हैं तो आप गूगल में उससे सम्बंधित कोई keyword डालते हैं और उस keyword के डालते ही आपके सामने हजारों results सामने आ जाते हैं | यूजर हमेसा top pages में से एक रिजल्ट को चुनकर अपना जबाब देख लेता है |

SEO किया गया आर्टिकल search engine में top ranks पर दिखता है, यदि आपने SEO के अनुसार आर्टिकल को लिखा है तो chances होते हैं कि वह आर्टिकल top पर दिखे | आगे के आर्टिकल में आप यह जानेंगे कि SEO कितने प्रकार के होते हैं |

Types of SEO in Hindi

SEO kya hai यह तो अब आपने जान ही लिया है अब आप जानेंगे कि Search Engine Optimization (SEO) मुख्यतः दो प्रकार On-Page SEO तथा Off-Page SEO के होते हैं |

On-Page SEO in Hindi

Website को design करने से लेकर उसमें लिखे जाने वाले आर्टिकल में keyword placement सभी factors On page SEO के अन्तर्गत आते हैं | On Page SEO के अन्तर्गत हम on-page seo techniques तथा  on-page seo factors जानेंगे |

On-page SEO Checklist

  1. Website Speed
  2. Navigation
  3. Title Tag
  4. URL of post
  5. Alt Tag
  6. Internal & External link
  7. Keyword Placement

Website Speed

On page SEO करते समय सबसे important factor जो सामने आता है वह है website की speed, सबसे पहले यह सुनिश्चित करें कि आपकी website खुलने में ज्यादा समय तो नहीं ले रही है | यदि website को खुलने में ज्यादा समय लगेगा तो यूजर उस website में कभी नहीं रुकेगा और ज्यादा chances यह हैं कि वह यूजर आपकी website को दुबारा कभी visit ना करे |

website की speed को कम करने के लिए आप निम्न techniques का प्रयोग कर सकते हैं –

  • Simple Theme का use करें
  • अपने आर्टिकल में आप जिन फोटोज का प्रयोग कर रहे हैं उनका size कम से कम रखें
  • ज्यादा plugins का प्रयोग ना करें
  • Cache हटाने वाले tools का use कर समय-समय पर website को साफ़ करते रहें

Navigation of Website

Website का Navigation proper होना चाहिए ताकि वेबसाइट user friendly हो और कोई भी यूजर आपकी website को आसानी से use कर सके | यदि कोई user आपकी website पर keyword find करके आता है और आपकी website का navigation proper है तो chances बढ़ जाते हैं कि यूजर आपका अन्य post भी पढ़े |

Title Tag 

प्रयास करें कि Title Tag हमेशा attractive हो ताकि कोई भी यूजर title पढ़कर ही आपका आर्टिकल पढने पर मजबूर हो जाए | Title में हमेशा long tail keyword का use करें ताकि यूजर को आपके title से ही पता चल जाए कि आप इस आर्टिकल में क्या-क्या बताने वाले हैं |

URL of Post

Post के URL को छोटा तथा simple रखने का प्रयास करें |

Alt Tag

Alt tag हमेशा से ही on page seo का मुख्य पार्ट रहा है क्योंकि SEO के अनुसार प्रत्येक blog में किसी image का होना अति आवश्यक है और alt tag हमेशा image में लगाया जाता है | Alt tag के रूप में image में keyword का use किया जाता है ताकि image के जरिये भी आर्टिकल google में rank कर सके |

कई लोग image देखकर अपनी query का solution खोजते हैं, इस स्थिति में यदि आपने अपने आर्टिकल में प्रयोग की गयी image में alt tag का use किया है और वह image किसी भी search engine में रैंक कर रही है तो उस image के जरिये readers आपके आर्टिकल तक पहुँचते हैं |

Internal & external link

Links चाहे internal हो या external दोनों का ही On-Page SEO की दृष्टि से मुख्य role है क्योंकि ये दोनों link Readers को ज्यादा इनफार्मेशन देने में सहायक होते हैं और website में readers का visit time भी बढ़ता है, जो कि किसी भी website की performance को बढाता है |

Internal links द्वारा  अपनी ही website या blog में readers को एक आर्टिकल से दूसरे आर्टिकल तक भेजा जाता है तथा external link द्वारा readers को उस इनफार्मेशन तक भेजा जाता है जिसकी जानकारी आप नहीं दे पाए हैं और किसी अच्छे आर्टिकल को suggest कर रहे हैं |

Keyword Placement

किसी भी आर्टिकल में keywords का सटीक जगह placement On Page SEO का अहम् हिस्सा है क्योंकि यदि keyword का प्रयोग आर्टिकल में ठीक जगह नहीं किया गया है तो वह आर्टिकल Search Engine में कभी रैंक नहीं करेगा |

Off- Page SEO in Hindi

किसी ब्लॉग या आर्टिकल के लिए जितना जरूरी On page SEO है उतना ही जरूरी Off page SEO क्योंकि अपनी-अपनी जगह दोनों प्रकार के SEO अपनी भूमिका निभाते हैं | जैसे on page seo में आर्टिकल लिखते समय भिन्न-भिन्न factors का ध्यान रखा जाता है वैसे ही off page seo में आर्टिकल को submit तथा publish करने के बाद कई कार्य करने होते हैं |

Off -Page SEO कैसे करें ?

  • सुनिश्चित करें कि आपकी website, blog या आर्टिकल किसी search engine में submit हुआ है
  • अपनी website या blog से सम्बंधित page प्रत्येक social media platform में अवश्य बनायें और प्रत्येक आर्टिकल को जगह-जगह शेयर करें
  • ज्यादा से ज्यादा जगह backlinks बनाने का प्रयास करें
  • प्रयास करें कि आपका आर्टिकल Q & A वाली अधिक से अधिक websites पर publish हो
  • आपके ब्लॉग या आर्टिकल से सम्बंधित अधिकतर websites पर comments करें तथा अपने आर्टिकल के links शेयर करें
  • प्रयास करें कि आपकी website को ज्यादा से ज्यादा do-follow backlinks मिलें

SEO के क्या फायदे हैं ?

यदि बात की जा रही है SEO की तो यह कहना बिल्कुल उचित रहेगा कि SEO (Search Engine Optimization) blogging की रीढ़ की हड्डी है, बिना SEO कोई भी ब्लॉग readers तक नहीं पहुँच सकता है | SEO के द्वारा ही आर्टिकल को optimize किया जाता है और उसके बाद ही आर्टिकल किसी भी search engine में रैंक कर पाता है |

उपरोक्त आर्टिकल में अभी तक आपने जाना कि SEO kya hai तथा उससे सम्बंधित कई जानकारियाँ और अब आगे के आर्टिकल में आप जानेंगे कि SEO के क्या फायदे हैं |

  • आर्टिकल को SEO करके जितना ज्यादा optimize किया जाएगा उसके किसी भी search engine में रैंक करने के chances बढ़ जायेंगे
  • Optimized ब्लॉग को प्रत्येक user पढना पसंद करता है और यह भी मुमकिन है कि जो यूजर आपकी website या blog पर आ रहा है वह दुबारा भी आये
  • यदि आपकी website या blog SEO Optimized है तो आपके पास ज्यादा visitor’s पहुँचते हैं
  • ज्यादा visitors पहुँचने कि स्थिति में आप AdSense जैसे ad network द्वारा अच्छी खासी online income कर सकते हैं

Adsense Account kya hai or India mein online paise kaise kamaye ?

आज के आर्टिकल में आपने जाना कि SEO kya hai (what is SEO in Hindi) और SEO के क्या फायदे हैं | इसके अलावा हमने अपने readers को इस आर्टिकल के जरिये SEO से सम्बंधित कई मुख्य जानकारियां देने का प्रयास किया है | यदि आपको उपरोक्त जानकारियां पसंद आई हों तो इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें | {SEO kya hai}

 

Previous articleBlogging kya hai & How to start blogging in hindi
Next articleHow to create a Blog for Free & 9 best blogging platforms

7 COMMENTS

  1. Thanks for this beautiful and informative article. I have read your previous blogs and found them very informative. I would highly recommend your articles to my family and friends. Visit our site too. We provide the best Digital Marketing Services in India.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here