इन्टरनेट बैंकिंग क्या है और इन्टरनेट बैंकिंग के क्या फायदे हैं ?

इन्टरनेट और मोबाइल/लैपटॉप की मदद से बैंकिंग के क्षेत्र में भी काम काफी आसान हो गया है और इस काम को आसान करने के पीछे इन्टरनेट बैंकिंग (आगे जानेंगे कि इन्टरनेट बैंकिंग क्या है) का बहुत बड़ा हाथ है | इन्टरनेट बैंकिंग की मदद से ग्राहक घर बैठे-बैठे लाखों रुपयों का आदान प्रदान बिना बैंक जाए चुटकियों में कर सकता है और यही नहीं इसके अलावा भी कई कार्य जैसे घर में बैठकर अपने मोबाइल और लैपटॉप की मदद से शोपिंग, बिल्स जमा करना इत्यादि आसानी से कर सकता है, तो आज के आर्टिकल में हम अपने पाठकों को बताने वाले हैं कि इन्टरनेट बैंकिंग क्या है और इसके क्या फायदे हैं ?

इन्टरनेट बैंकिंग क्या है ?

किसी भी बैंक के द्वारा दी जाने वाली वह सुविधा जिसकी मदद से customer किसी भी स्थान से इन्टरनेट और मोबाइल तथा लैपटॉप इत्यादि डिवाइसों की मदद से बिना बैंक जाए अपना अकाउंट access कर सकता है | इस सुविधा के अन्तर्गत रुपयों पैसों का आदान प्रदान, e पासबुक का इस्तेमाल करना, बैंक स्टेटमेंट देखना, ATM का password बदलना, नए ATM तथा चेकबुक के लिए apply करना इत्यादि कार्य कहीं भी बैठकर कर सकते हैं और इनके लिए आपको बैंक जाने की जरुरत भी नहीं होती है |

आसान शब्दों में बोला जाए तो नेट बैंकिंग एक vertual bank है जो मोबाइल के रूप में आपकी जेब में और लैपटॉप के रूप में आपके बैग में हो सकता है | नेट बैंकिंग के जरिये भी हम वे सभी कार्य कर सकते हैं जिनके लिए पहले अक्सर हमें बैंक में जाना पड़ता था किन्तु कुछ कार्य अभी भी ऐसे हैं जिनके लिए हमारा बैंक में उपस्थित होना आवश्यक होता है | यह कहना बिलकुल भी गलत नहीं होगा कि कोई भी customer बैंक से सम्बंधित अपने 90 प्रतिशत कार्य इन्टरनेट बैंकिंग की मदद से कर सकता है |

इन्टरनेट-बैंकिंग-क्या-है

इन्टरनेट बैंकिंग के क्या फायदे हैं ?

  • Internet Banking की वजह से बैंक के छोटे मोटे कामों के लिए बैंक visit नहीं करना पड़ता है क्योंकि छोटे मोटे ज्यादातर कार्य मोबाइल तथा लैपटॉप से net banking का प्रयोग करके हो जाते हैं |
  • आप किसी भी समय रुपयों पैसों का आदान-प्रदान कर सकते हैं, आपके सामने किसी भी प्रकार की समय सीमा नहीं होती है |
  • Internet Banking का प्रयोग करके आप अपना कीमती समय बचा सकते हैं |
  • आप घर बैठकर आसानी से यह चेक कर सकते हैं कि आपके खाते में कितना पैसा बचा है और कब कितना पैसा डाला तथा निकाला है यह सभी व्योरा भी आप घर बैठकर ही देख सकते हैं |
  • नए ATM, चेकबुक, पासबुक तथा क्रेडिट कार्ड इत्यादि के लिए इन्टरनेट बैंकिंग की मदद से online apply कर सकते हैं |
  • इसके द्वारा किया जाने वाला लेनदेन सुरक्षित होता है तथा हर चीज का ऑनलाइन रिकॉर्ड होता है |
  • Internet Banking आपके मोबाइल से भी लिंक होती है, इसका गलत उपयोग होने की स्थिति में इसकी सूचना मैसेज द्वारा तुरन्त पहुँच जाती है |
  • Internet Banking की मदद से आप किसी भी प्रकार का बिल जमा करवा सकते हैं जो कि एक बहुत अच्छी सुविधा है |

कुछ मुख्य बैंकों के इन्टरनेट बैंकिंग पोर्टल लिंक

क्रमांक  बैंक का नाम  पोर्टल लिंक 
1 स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) link
2 पंजाब नेशनल बैंक (PNB) link
3 बैंक ऑफ़ बडोदा (BOB) link
4 आईसीआईसीआई बैंक (icici) link
5 HDFC Bank link
6 Paytm Payments Bank link
7 Bank of India link

उपरोक्त सम्बंधित बैंक के लिंक पर क्लिक करके आप इन्टरनेट बैंकिंग पोर्टल को visit कर सकते हैं किन्तु इन्हें इस्तेमाल करे के लिए आपके पास यूजर आईडी तथा पासवर्ड का होना आवश्यक है जो कि आप बैंक जाकर एक छोटी प्रक्रिया द्वारा अपने बैंक से प्राप्त कर सकते हैं |

इस प्रक्रिया के अन्तर्गत आपको इन्टरनेट बैंकिंग का फॉर्म भरकर बैंक में जमा करना होता है तथा बैंक कर्मचारी आपके अकाउंट से सम्बंधित डॉक्यूमेंट चेक करता है तथा यदि सब कुछ ठीक पाया जाता है तो वह आपके इन्टरनेट बैंकिंग पोर्टल को एक्टिवेट कर देता है और आपको एक यूजर आईडी और पासवर्ड देता है जिसकी मदद से आप भविष्य में कभी भी कहीं भी अपने net banking portal को ऑपरेट कर सकते हैं |

इन्टरनेट बैंकिंग के नुकसान

जैसा कि माना जाता है कि मनुष्य जीवन के लिए टेक्नोलॉजी वरदान है तो उसका एक दूसरा पहलू भी है जहाँ पर टेक्नोलॉजी एक अभिषाप भी है | यदि कोई भी चीज आपको फायेदा पहुँचा रही है तो कहीं ना कहीं उसके कुछ नुकसान भी अवश्य होंगे | यहाँ पर हम बात कर रहे हैं इन्टरनेट बैंकिंग के कारण होने वाले कुछ नुकसानों के बारे में |

  • Internet Banking का प्रयोग कहीं ना कहीं मनुष्य के शरीर को कमजोर बना रहा है क्योंकि जब तक इन्टरनेट बैंकिंग का प्रयोग नहीं होता था तब तक बैंक से सम्बंधित प्रत्येक कार्य के लिए बैंक जाना पड़ता था जिसकी वजह से मनुष्य का शरीर चलता रहता था किन्तु अब ऐसा नहीं है इन्टरनेट बैंकिंग की मदद से मनुष्य ज्यादातर कार्य बैठे बैठे ही कर लेता है |
  • यदि Internet Banking का यूजर आईडी तथा पासवर्ड गलती से किसी गलत हाथों में लग जाए तो वह उस अकाउंट का सारा पैसा किसी अन्य अकाउंट पर ट्रान्सफर कर सकता है या फिर अन्य तरीकों से उसका मिसयूज कर सकता है |
  • इन्टरनेट बैंकिंग एक सर्वर पर कार्य करता है और एक स्थिति ऐसी भी आ सकती है जब आपको इमरजेंसी में कहीं पैसे भेजने हों और सर्वर डाउन हो जाए तो आप पैसों का लेन देन नहीं कर पाएंगे |

[su_button url=”https://explanationinhindi.com/banking/%e0%a4%ac%e0%a5%88%e0%a4%82%e0%a4%95-%e0%a4%95%e0%a5%8d%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b9%e0%a5%88/” target=”blank” size=”5″]यह भी जानिये[/su_button] बैंक क्या है इसके प्रकार एवं कार्यों का वर्णन [Definition of bank in hindi]

 

इन्टरनेट बैंकिंग क्या है से सम्बंधित जानकारी आपको पसन्द आई होगी, हमारी आपसे गुजारिश है कि इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकिन अधिक से अधिक लोग इन्टरनेट बैंकिंग के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें और टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, बायोग्राफी,अमेजिंग फैक्ट्स तथा how to queries से सम्बंधित जानकारी के लिए explanation in हिन्दी visit करें

Previous articleबैंक क्या है इसके प्रकार एवं कार्यों का वर्णन [Definition of bank in hindi]
Next articleMonetary Policy – मौद्रिक नीति क्या है in hindi तथा प्रयोग में लाये जाने वाले उपकरण

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here