Neeraj Chopra Biography in Hindi- ऐसा फेंका भाला कि 1 झटके में जीत लिया भारत के लिए गोल्ड मैडल

नीरज चोपड़ा एक ऐसा नाम जिसने ओलिंपिक में भाला फेंक में गोल्ड मैडल जीतकर इतिहास रच दिया है और सम्पूर्ण विश्व में चर्चित हो गए हैं | आज के इस आर्टिकल में हम नीरज चोपड़ा के जीवन परिचय (Neeraj Chopra Biography in Hindi) के बारे में चर्चा करेंगे, यदि आप भी जानना चाहते हैं कि नीरज चोपड़ा कौन हैं (who is neeraj chopra ?) और सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी तो इस आर्टिकल को अन्त तक जरूर पढ़ें |

Highlight : नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में स्वतंत्र भारत का पहला ट्रैक-एंड-फील्ड ओलंपिक पदक जीतकर इतिहास रचा 

नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलंपिक्स

नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने के बाद पुरुषों की भाला फेंक रैंकिंग में दुनिया के दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं और टोक्यो ओलंपिक 2020 में स्वतंत्र भारत का पहला ट्रैक-एंड-फील्ड ओलंपिक पदक जीतकर इतिहास रच दिया है | भारतीय निशानेबाज अभिनव बिंद्रा के बाद नीरज चोपड़ा देश के लिए केवल दूसरे व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता बने हैं |

ओलंपिक 2020 में नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर की दूरी से भाला फेंककर भारत के लिए गोल्ड मैडल जीता | इस खेल में एक दिलचस्प बात यह थी कि उनका दूसरा सर्वश्रेष्ट थ्रो भी 87.03 मीटर था और वह भी उन्हें गोल्ड मैडल जिता सकता था |

Neeraj-Chopra-gold-medal

Neeraj Chopra Biography in Hindi (जीवन परिचय)

Neeraj Chopra Biography in Hindi : नीरज चोपड़ा का जन्म 24 दिसंबर 1997 को हरियाणा के पानीपत में एक किसान के घर हुआ था | इनके पिता का नाम सतीश कुमार तथा माता जी का नाम सरोज देवी है, पिता किसान तथा माता गृहणी हैं | नीरज चोपड़ा बचपन में बहुत मोटे थे और उसी मोटापे की बजह से उन्हें कई बार सर्मिंदगी का सामना भी करना पड़ा था | नीरज के मोटापे को लेकर घर के सदस्यों को भी चिन्ता रहती थी इसलिए उन्हें बचपन से ही ज्यादा दौड़ने के लिए प्रेरित किया जाता था |

उनका दाखिला स्टेडियम में बचपन में ही करा दिया गया था जहाँ वे प्रतिदिन दौड़ने जाया करते थे किन्तु उन्हें दौड़ना बिल्कुल भी पसन्द नहीं था | एक दिन उन्होंने स्टेडियम में कुछ बच्चों को भाला फेंकते हुए देखा तो उनका मन अचानक उस भाले की तरफ आकर्षित हो गया और उन्होंने भाला फेंक के लिए अभ्यास करने की ठान ली और तब से अब तक नीरज भाला फेंक का अभ्यास कर रहे थे | ओलंपिक में गोल्ड मैडल जीतकर उन्होंने साबित कर दिया कि उन्होंने इस खेल के लिए कितना अभ्यास किया होगा |

neeraj-chopra-biography-in-hindi

यह भी पढ़िए : Priya Malik Wrestler Biography in Hindi : ओलम्पिक में पहला (1) स्वर्ण पदक जीतकर भारत का नाम किया रोशन

 

Neeraj Chopra Education

Neeraj Chopra Biography in Hindi : नीरज चोपड़ा की प्रारम्भिक शिक्षा हरियाणा के पानीपत से ही हुई थी और अपनी डिग्री हासिल करने के लिए नीरज ने चंडीगढ़ के एक कॉलेज में दाखिला लिया था और वहीँ से अपनी बीबीए (BBA) की पढाई पूरी करी |

नीरज चोपड़ा की शारीरिक संरचना 

Neeraj Chopra Height (लम्बाई) 178 सेंटीमीटर

1.78 मीटर

5’10” (फीट/इन्च)

Neeraj Chopra Waight (वजन) 65 किलोग्राम (लगभग)
आँखों का रंग काला
बालों का रंग  काला

नीरज चोपड़ा के द्वारा बनाये गए कुछ रिकार्ड्स और उपलब्धियां (neeraj chopra record in javelin throw)

  1.  साल 2012 में लखनऊ में आयोजित under-16 नेशनल जूनियर चैम्पियनशिप में नीरज चोपड़ा ने 68.46 मीटर की दूरी से भाला फेंककर गोल्ड मैडल हासिल किया था |
  2. 2015 में इन्टर यूनिवर्सिटी चैम्पियनशिप में 81.04 मीटर दूरी तक भाला फेंककर नीरज ने यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था |
  3. वर्ष 2016 में जूनियर विश्व चैम्पियनशिप में 86.48 मीटर की दूरी पर भाला फेंककर नया रिकॉर्ड स्थापित किया तथा गोल्ड मैडल हासिल किया था |
  4. वर्ष 2016 में ही दक्षिण एशियाई खेलों में  82.23 मीटर भाला फेंककर गोल्ड मैडल हासिल किया था |
  5. साल 2018 में गोल्ड कोस्ट में आयोजित कॉमनवेल्थ खेलों में नीरज चोपड़ा ने 86.47 मीटर भाला फेंक कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था ।
  6.  जकार्ता एशियन गेम्स 2018 में 88.06 मीटर भाला फेंककरनीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीतकर इंडिया का नाम रोशन किया था ।

नीरज चोपड़ा एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाले पहले इंडियन जैवलिन थ्रोअर हैं। इसके अलावा एक ही साल में एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल हासिल करने वाले नीरज चोपड़ा दूसरे खिलाड़ी हैं। यह रिकॉर्ड इनसे पहले 1958 में मिल्खा सिंह जी द्वारा बनाया गया है |

गोल्ड मैडल जीतने पर सम्पूर्ण भारत ने मनाया जश्न और नीरज चोपड़ा को दीं ढेर सारी बधाइयाँ

ओलंपिक 2020 में 87.58 मीटर भाला फेंककर नीरज चोपड़ा ने भारत के लिए गोल्ड मैडल जीतकर भारत का नाम सम्पूर्ण विश्व में रोशन किया है जिस वजह से हर्षौल्लास का माहोल है और जगह जगह से नीरज को ढेर सारी बधाइयाँ दे जा रही हैं |

  • जब नीरज चोपड़ा ने इतिहास रचा उस समय क्रिकेट के दिग्गज सुनील गावस्कर वहीँ थे और नीरज के इतिहास रचते ही खड़े होकर देशभक्ति गीत “मेरे देश की धरती” गाया और वहीँ पर उनके पैर भी थिरकने लगे |
  • भारत के पूर्व टेनिस खिलाड़ी सोमदेव देववर्मन ने नीरज चोपड़ा के लिए एक गीत की रचना की और ऐतिहासिक अवसर का जश्न मनाने के लिए इसे अपने गिटार पर बजाया।
  • देश के प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी जी और रास्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी ने भी नीरज चोपड़ा को बधाई दी |
  • भारत के पहले ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता, अभिनव बिंद्रा ने भी अपने ट्वीट और वीडियो संदेशों के जरिये क्लब में उनका स्वागत किया।

इंडियन आर्मी में कैसे हुई थी नीरज चोपड़ा की भर्ती ?

वर्ष 2016 में पोलैंड में हुए आईएएएफ वर्ल्ड यू 20 चैम्पियनशिप में 86.48 मीटर की दूरी पर भाला फेंककर नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मैडल जीता था | यह जीत उनके लिए कुछ अलग ही थी क्योंकि यह गोल्ड मैडल जीतने के बाद इंडियन आर्मी ने उन्हें राजपुताना रेजिमेंट में बतौर जूनियर कमिशन्ड ऑफिसर के तौर पर नायब सुबेदार के पद पर नियुक्त किया था | ऐसा देखने को बहुत कम मिलता है कि इंडियन आर्मी में किसी की सीधी भर्ती ऑफिसर रैंक में की गयी हो किन्तु नीरजा चोपड़ा के खेल से प्रभावित होकर आर्मी ने उन्हें चुना और उन्हें नौकरी दी |

यह भी जानिये : Mirabai Chanu Biography in Hindi :ओलंपिक में सिल्वर मैडल जीतने वाली भारत की 1st भारोत्तोलन खिलाड़ी

 

गोल्ड मैडल जीतने के बाद नीरज चोपड़ा पर हुई धनवर्षा

नीरज चोपड़ा के गोल्ड मैडल जीतेने के बाद ऐसा लग रहा है मानो स्वमं लक्ष्मी आकर उन्हें बधाई दे रही हों और उन पर धन की बरसात हो रही हो | इस जीत के बाद जगह जगह से रिवॉर्ड के रूप में उन्हें करोड़ों रूपए की धनराशि दी गयी |

  • हरियाणा सरकार ने नीरज चोपड़ा को 6 करोड़ रूपए, क्लास वन जॉब तथा आधे रेट पर जमीन देने की घोषणा की है |
  • रेलवे के द्वारा नीरज चोपड़ा को 3 करोड़ रूपए देने की बात कही गयी है |
  • पंजाब सरकार ने भी नीरज चोपड़ा को 2 करोड़ रूपए देने की घोषणा की है |
  • मणिपुर सरकार की ओर से भी नीरज चोपड़ा को 1 करोड़ रूपए की धनराशि दिए जाने की घोषणा की गयी है |
  • इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन की और से 75 लाख रूपए तथा BCCI की और से रूपए 1 करोड़ देने की घोषणा की गयी है |

उम्मीद करते हैं कि Neeraj Chopra Biography in Hindi से सम्बंधित यह लेख आपको पसन्द आया होगा | पाठकों से छोटी सी गुजारिश है कि इस लेख को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें |

टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, बायोग्राफी, अमेजिंग फैक्ट्स तथा how to Queries जानने के लिए आपकी अपनी वेबसाइट http://explanationinhindi.com/ को visit करें, इस वेबसाइट में उपरोक्त विषयों से सम्बंधित हर प्रकार की जानकारी को  हिन्दी भाषा में देने का प्रयास किया जाता है |

Previous articleRakhi 2022 – Special Event for all Hindu’s (Don’t miss out)
Next articleirctc login id and password भूल गए हैं तो इस 1 आर्टिकल को पढ़कर जानें कैसे recover करें ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here