KYC Full Form in Hindi – KYC क्या होता है और क्यों है जरूरी ?

KYC Full Form in Hindi – Know Your Customer (अपने ग्राहक को पहचाने)

KYC का प्रयोग सभी भारतीय बैंक अपने ग्राहकों के पते और उनकी पहचान के लिए करते हैं जिसका फुल फॉर्म Know Your Customer (अपने ग्राहक को पहचानें) है, इसके लिए बैंक अपने सभी ग्राहकों से KYC Form भरवाते हैं जिस फॉर्म में ग्राहक की सभी जानकारी जैसे ग्राहक का नाम, ग्राहक का पता एवं अन्य कई मुख्य जानकारियां होती हैं | वर्तमान समय में KYC इतना आवश्यक हो गया है कि इससे सम्बंधित दस्तावेजों को बैंक में जमा ना करने पर आपका बैंक खाता बंद भी हो सकता है |

KYC meaning in hindi

यदि आपका खाता किसी भी बैंक में है तो इस आर्टिकल का पढना आपके लिए बहुत जरूरी है क्योंकि आज के समय में भी कई भारतीय ऐसे हैं जिन्हें यह नहीं पता है कि केवाईसी क्या होता है (KYC kya hai) या केवाईसी का मतलब क्या है (KYC meaning in Hindi) ? जैसा कि हमने बताया कि KYC से सम्बंधित प्रक्रिया प्रत्येक खाताधारक के लिए एक अहम् प्रक्रिया है तो इसके बारे में सभी ग्राहकों के पास आवश्यक जानकारी का होना भी जरूरी है |

यह भी जानिये :- UPI Full form in Hindi [What is the full form of UPI] & UPI ID kaise banaye ?

KYC की उपयोगिता को ध्यान में रखते हुए इस लेख में हम आपको बताएँगे कि KYC kya hota hai (What is Kyc in Hindi), Kyc ka full form kya hai, Kyc के लिए आवश्यक दस्तावेज कौन-कौन से हैं और KYC form online kaise bhare ?, साथ ही साथ इस लेख में हम आपको Kyc से जुड़े कुछ ऐसे प्रश्नों के जबाब देने वाले हैं जो ग्राहकों द्वारा अक्सर पूछे जाते हैं |

यदि आप भी उपरोक्त सभी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं या अपना Kyc फॉर्म ऑनलाइन भरना चाहता हैं तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें, इस आर्टिकल के माध्यम से आप यह जान पायेंगे कि Kyc क्यों जरूरी है और एक खाताधारक के लिए Kyc की क्या उपयोगिता है |

KYC Full Form in Hindi

केवाईसी (KYC) का फुल फॉर्म “Know Your Customer” है जिसे हिंदी में “अपने ग्राहक को पहचाने” कहा जाता है | KYC की शुरुआत साल 2002 में भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा अपने ग्राहकों की पहचान और उनके सही पते जानने के लिए की गयी थी | 2 वर्षों तक इसे ट्रायल में रखा गया और इसके लाभ और हानिओं को देखा गया फिर उसके बाद साल 2004 में KYC को प्रत्येक खाताधारक के लिए अनिवार्य कर दिया गया |

KYC Full Form

भारतीय रिजर्व बैंक का उठाया गया यह कदम बैंक इंडस्ट्री के लिए वरदान साबित हुआ क्योंकि KYC के माध्यम से सभी बैंकों ने जाना कि हमारा कौन सा ग्राहक सही है और कौन गलत और सभी ऐसे खाताधारकों के खातों को बंद कर दिया गया जो सक्रिय नहीं थे या फिर जिन्होंने अपनी गलत इनफार्मेशन दी थी | इस प्रक्रिया से बैंकों में खुले खातों में सुधार हुआ और बैंक कर्मचारियों के लिए काफी कुछ चीजें आसान हो गयीं |

डिजिटल क्रांति के चलते KYC ने एक अहम् भूमिका भी निभाई और online transections के दौरान होने वाली धोखाधड़ी को भी काफी कम कर दिया | यदि आप भी digital payment करते हैं और GPay, PhonePe इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं तो आपके पास KYC से सम्बंधित प्रत्येक जानकारी का होना बहुत जरूरी है |

eKyc क्या होता है और eKYC का फुल फॉर्म क्या है (eKyc full form in Hindi) ?

इलेक्ट्रॉनिक तरीके या कहें paperless तरीके से की जाने वाली Kyc की प्रक्रिया को eKyc कहा जाता है और eKYC का फुल फॉर्म “Electronic Know Your Customer” है | इसमें खाताधारक की पहचान और पते की प्रमाणिकता को इलेक्ट्रॉनिक रूप में सत्यापित किया जाता है |

Related Article :- PM Kisan Samman Nidhi Yojana Official Website से PM kisan ekyc कैसे करें ?

eKYC KYC प्रक्रिया का एक इलेक्ट्रॉनिक संस्करण है जिसे भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) द्वारा प्रशासित किया जाता है। eKYC पहचान विधि का उपयोग बैंक, म्यूचुअल फंड, मोबाइल कनेक्शन और ऐसी ही कई सेवाओं के लिए खाता खोलने के लिए किया जा सकता है, जिनमे KYC प्रक्रिया की आवश्यकता होती है।

यह भी जानिये : Uidai क्या है ?

Kyc क्यों जरूरी है ?

KYC Full Form in Hindi जो कि “Know Your Customer” है से आपने यह अंदाजा तो अब तक लगा ही लिया होगा कि Kyc के माध्यम से प्रत्येक बैंक अपने ग्राहकों की निजी जानकारियां अपने पास रखता है ताकि यदि कोई ग्राहक धोखाधड़ी के मकसद से अपनी गलत पहचान बताता है तो बैंक कर्मचारी उस धोखाधड़ी के मकसद को आसानी से भांप सकें और होने वाली सभी धोखाधडियों को नियंत्रित कर सकें |

आसान शब्दों में कहा जाए तो Kyc इसलिए जरूरी है क्योंकि इसके माध्यम से अपराधिक गतिविधियों को कम किया जा सकता है या पूर्ण रूप से रोका भी जा सकता है |

यह भी जानिये :- इन्टरनेट बैंकिंग क्या है और इन्टरनेट बैंकिंग के क्या फायदे हैं ?

KYC करवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

उपरोक्त लेख में आपने जाना कि Kyc क्या होता है, केवाईसी का फुल फॉर्म क्या है (KYC Full Form in Hindi), eKyc क्या है और eKyc का फुल फॉर्म क्या होता है (eKYC Full Form in Hindi) ?

अब आप जानेंगे कि Kyc करवाने के लिए मुख्य दस्तावेज कौन कौन से हैं जो इस प्रक्रिया के दौरान ग्राहक के पास होने बहुत जरूरी हैं –

  1. ड्राइविंग लाइसेंस
  2. वोटर आईडी
  3. पासपोर्ट
  4. आधार कार्ड
  5. पैन कार्ड

Kyc Form Online कैसे भरें ?

जैसा कि आप जानते ही होंगे कि प्रत्येक बैंक का अपना online portal है जिसमें कई प्रकार की ऑनलाइन सर्विसेज का आप इस्तेमाल कर सकते हैं | यहाँ पर हम उदाहरण के तौर पर SBI Internet Banking का इस्तेमाल करके आपको बताएँगे कि आप SBI में Online Kyc कैसे कर सकते हैं |

  • सर्वप्रथम अपने browser में www.onlinesbi.com खोलें
  • उपरोक्त link पर click करते ही आपके सामने State Bank of India की ऑफिसियल वेबसाइट open हो जाएगी
  • Personal Banking को चुनें और Login विकल्प पर click करें

Kyc Form Online

  • Login पर click करते ही आप एक नए page पर पहुँच जाते हैं जिसमें दायीं ओर ऊपर की तरफ Continue to Login पर click करें

eKyc Form Online

  • आवश्यक जानकारी जैसे user name और password भरकर Captcha Code fill करें और Login बटन को press कर दें

ekyc online form

  • Login हो जाने के बाद Menu पर जाएँ वहां पर e-services विकल्प को चुनें
  • जैसे ही आप e-services पर click करते हैं आपको कई सारे विकल्प दिखेंगे जिनमें से आपको “Pan Registration” पर click करना है
  • अब आपसे आपका profile password माँगा जाएगा, अपना प्रोफाइल पासवर्ड भरें और Submit करें
  • ऐसा करते ही आपके सामने एक नयी screen खुल जाती है जिस पर आपको Click here to Register का option दिखेगा, उस पर click करें
  • अपना Pan Number भरें और Submit बटन पर click कर दें
  • Submit करने के बाद आपसे Confirm करने के लिए कहा जायेगा जिस पर आपको click करना होगा
  • Confirm पर click करते ही आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नम्बर पर एक OTP भेजा जाएगा, OTP दर्ज करवाते ही आपकी सभी डिटेल्स Submit हो जायेंगी

Related Articles :-

  1. Captcha Code क्या है (What is Captcha Code in Hindi) ?
  2. OTP kya hota hai & Why is One Time Password safe ?

Conclusion

उपरोक्त लेख “KYC Full Form in Hindi – KYC क्या होता है और क्यों है जरूरी ?” का निष्कर्ष यह है कि Kyc या eKyc जितना आवश्यक बैंक के लिए है उतना ही जरूरी आपके लिए भी है क्यंकि यदि आप अपनी KYC प्रक्रिया को पूर्ण नहीं करते हैं तो आपका बैंक खता बंद भी हो सकता है और साथ ही साथ आपके खाते में fraud होने की सम्भावना भी बढ़ जाती है |

यदि आप अपने बैंक खाते को सुरक्षित रखना चाहते हैं और आपने अभी तक KYC नहीं करवाया है तो तुरंत बैंक जाकर KYC प्रक्रिया को पूर्ण कर लीजिये या फिर घर बैठकर ही अपनी eKyc प्रक्रिया को पूर्ण कर लीजिये |

इस लेख में आपको केवाईसी के बारे में सम्पूर्ण जानकारी जैसे- Meaning of KYC In Hindi और KYC Ka Full Form अत्यंत सरल शब्दों में प्रदान की गयी है। आशा करते है कि अब आप जान गए होंगे K Y C Full Form Hindi क्या है, KYC Ka Matlab Kya Hota Hai और केवाईसी के लिए किन-किन दस्तावेज़ों की आवश्यकता होती है।

Previous articleUPI Full form in Hindi [What is the full form of UPI] & UPI ID kaise banaye ?
Next articleBBA kya hai [BBA Course Details in Hindi] – BBA Full Form in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here