रतन टाटा 1 ऐसा नाम जो सभी उद्योगपतियों की प्रेरणा है :- Biography of Ratan Tata in Hindi

भारत देश में यदि उद्योगपतियों के बारे में विचार किया जाए तो रतन टाटा का नाम सर्वोच्च स्थान पर आता है, जी हाँ हम आपको बता दें कि रतन टाटा एक सफल उद्योगपति हैं जिनकी गिनती भारत में ही नहीं अपितु सम्पूर्ण विश्व में टॉप पर की जाती है | आज के आर्टिकल में हम रतन टाटा की जीवनी (Biography of Ratan Tata in Hindi ) के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं और यदि आप रतन टाटा के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अन्त तक जरुर पढ़ें |

कौन हैं रतन टाटा (who is ratan tata) ?

रतन टाटा एक ऐसा नाम जो उद्योगपतियों की लिस्ट में तो सर्वोच्च स्थान पर है ही किन्तु यदि बात की जाए सोशल वर्क की तो ये इस क्षेत्र में भी सबसे आगे हैं और प्रत्येक सोशल वर्क में रतन टाटा बढ़ चढ़ कर हिस्सा लेते हैं | इनका जन्म 28 दिसंबर 1937 को सूरत, गुजरात में हुआ था | इनके पिता का नाम नवल टाटा व माता का नाम सोनू टाटा है | रतन टाटा TATA Group के फाउंडर जमशेद जी टाटा के पोते हैं और इनका एक भाई है जिसका नाम जिम्मी टाटा है |

रतन टाटा एक प्रसिद्ध उद्योगपति और टाटा संस के सेवामुक्त चेयरमैन हैं जो कि 1991 से 2012 तक टाटा ग्रुप के अध्यक्ष रहे और इसके साथ साथ टाटा इस ग्रुप की कई बड़ी कम्पनियों जैसे टाटा स्टील, टाटा पॉवर, टाटा कंसलटेंसी, टाटा केमिकल, होटल्स और टाटा टेलीसर्विसेज  के भी अध्यक्ष रह चुके हैं |

28 दिसंबर 2012 को रतन टाटा ने टाटा ग्रुप के अध्यक्ष पद को छोड़ दिया था किन्तु वे अभी भी टाटा समूह के चेरीटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष बने हुए हैं |




रतन टाटा देश की सबसे छोटी कार बनाने के लिए प्रसिद्ध हैं, यह कार उन्होंने उन मध्यवर्गीय परिवार वालों के लिए बनाई थी जो बड़ी और महंगी कार खरीदने में असमर्थ थे | इस कार को बनाने के पीछे भी एक छोटी सी घटना जुडी हुई है, कहा जाता है कि एक बार रतन टाटा अपनी कार में सफ़र कर रहे थे और बाहर बहुत तेज बारिस हो रही थी | उन्होंने देखा कि एक छोटा परिवार मोटरसाइकिल पर जा रहा है और वह बारिश में भीग रहे हैं |

काफी विचार करने के बाद उन्होंने यह निर्णय लिया कि एक ऐसी कार बनाई जायेगी जो मध्यवर्गीय परिवार वालो के सफ़र के दौरान उनके लिए छत का काम करेगी और यह सोच रखकर उन्होंने टाटा नैनो कार बना डाली और 1 लाख रूपए की कार बनाने के लिए उनकी काफी सराहना भी की गयी थी |

रतन-टाटा




रतन टाटा जीवनी || Biography of Ratan Tata in Hindi (एक नजर में)

नाम रतन टाटा
वास्तविक नाम (ratan tata full name) रतन नवल टाटा
जन्मतिथि 28 दिसंबर 1937
आयु (Ratan Tata age) 83 साल (2021 के अनुसार)
जन्मस्थान सूरत, गुजरात, भारत
पिता का नाम नवल टाटा
माता का नाम सोनू टाटा
रास्ट्रीयता भारतीय
धर्म पारसी
शैक्षिक योग्यता संरचनात्मक इंजीनियरिंग के साथ वास्तुकला में बी.एस. डिग्री
स्कूल
  • कैंपियन स्कूल, मुंबई, भारत
  • कैथेड्रल और जॉन कॉनन स्कूल, मुंबई, भारत
कॉलेज
  • कॉर्नेल विश्वविद्यालय, इथाका, न्यूयॉर्क, सयुंक्त राज्य अमेरिका
  • हार्वर्ड बिजनेस स्कूल, बोस्टन, मैसाचुसेट्स, सयुंक्त राज्य अमेरिका

Carrer

  • भारत लौटने से पहले कुछ समय टाटा कैलिफोर्निया में जोन्स और एमोंस में कार्यरत रहे और वहां रहकर उन्होंने काफी कुछ सीखा |
  • भारत लौटने के बाद टाटा ने अपने करियर की शुरुआत टाटा ग्रुप के साथ साल 1961 में की थी, सर्वप्रथम उन्हें जमशेदपुर के टाटा स्टील प्लान्ट में भेजा गया | वहां पर उन्होंने ग्राउंड लेबल से वर्कर्स से साथ मिलकर काम को बारीकियों से सीखा |
  • 1971 में उन्हें नेल्को कम्पनी का डायरेक्टर बनाया गया था किन्तु उस वक्त यह कम्पनी वित्तीय संकट से जूझ रही थी और टाटा ने इस चैलेंज को स्वीकार लिया था और कड़ी मेहनत करके उस कम्पनी की आर्थिक स्थिति को सुधार दिया था |
  • 1991 में वह पल आया जब जे. आर. डी टाटा ने रतन टाटा को टाटा संस के चेयरमैन के रूप में उत्तराधिकारी घोषित किया और अपना सारा कार्यभार उन्हें सौंप दिया |
  • 1991 से अब तक टाटा ने अपनी सूझ बूझ और कड़ी मेहनत से टाटा ग्रुप को आसमान की बुलंदियों तक पहुँचा दिया है |




[su_button url=”https://explanationinhindi.com/biography/atal-bihari-vajpayee/” target=”blank” size=”5″]यह भी पढ़ें[/su_button]: Biography of Atal Bihari Vajpayee in Hindi || अटल बिहारी बाजपेयी जीवन परिचय

 

रतन टाटा को दिए गए सम्मान और पुरस्कारों की लिस्ट (ratan tata awards list)

  1. गणतंत्र दिवस समारोह में 26 जनवरी 2000 को रतन टाटा को पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था |
  2. 26 जनवरी 2008 को रतन नवल टाटा को भारत के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था |
  3. मार्च 2006 में टाटा को कॉर्नल विश्वविद्यालय द्वारा 26 वें रॉबर्ट एस सम्मान द्वारा सम्मानित किया गया था |
  4. 2008 में टाटा को नैसकॉम ग्लोबल लीडरशिप सम्मान से नवाजा गया था |
  5. 2016 में उन्हें फ्रांसीसी सरकार द्वारा “Commander of the Legion of Honour” पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।




awards
Source : Wikipedia

Is Ratan Tata a dog lover?

जी हाँ, रतन टाटा एक dog lover हैं | डॉग लवर ही नहीं बल्कि रतन टाटा animal lover हैं वे जानवरों से बहुत प्यार करते हैं | उनका जानवरों के प्रति इस कदर लगाव है कि टाटा ग्रुप के वैश्विक हेडक्वार्टर यानि बॉम्बे हाउस का कुछ हिस्सा स्ट्रीट डॉग्स के लिए बना है। जहाँ पर कई स्ट्रीट डॉग्स को रखा जाता है |

रतन टाटा का पसंदीदा कुत्ता गोवा है, दरअसल गोवा टाटा के प्रिय कुत्ते का नाम है | अब आप सोचेंगे कि टाटा ने इस कुत्ते का नाम गोवा क्यों रखा होगा, इसके पीछे एक बड़ी ही दिलचस्प कहानी है | एक बार टाटा गोवा गए हुए थे अचानक उनके एक सहयोगी की कार में एक कुत्ते का पिल्ला आकर बैठ गया और टाटा उसे अपने साथ ही ले आये | अब टाटा ने सोचा कि इसे किस नाम से पुकारा जाए तो उन्हें ख्याल आया कि यह गोवा से आया है तो इसका नाम गोवा ही रख दिया जाए | जब वह पिल्ला बड़ा हुआ तो रतन टाटा का सबसे प्रिय बन गया, अब टाटा उससे मिलने के लिए बेताब रहते हैं |




उम्मीद करते हैं कि रतन टाटा से सम्बंधित उपरोक्त जानकारी आपको पसन्द आई होगी, पाठकों से गुजारिश है कि उपरोक्त जानकारी को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें |

टेक्नोलॉजी, कंप्यूटर, बायोग्राफी, अमेजिंग फैक्ट्स तथा how to Queries जानने के लिए आपकी अपनी वेबसाइट http://explanationinhindi.com/ को visit करें, इस वेबसाइट में उपरोक्त विषयों से सम्बंधित हर प्रकार की जानकारी को  हिन्दी भाषा में देने का प्रयास किया जाता है |

Previous articlePawandeep Rajan : इंडियनआइडल सीजन 12 को जीतकर उत्तराखंड का नाम पूरे देश में किया रोशन
Next articleHow to Change Mobile Number in Google Pay ?