What is Technology in Hindi – हिंदी में जानिये टेक्नोलॉजी क्या है, और कितने प्रकार की होती है, तथा टेक्नोलॉजी के लाभ नुकसान क्या हैं?

टेक्नोलॉजी एक ऐसा शब्द है, जिसे यदि आप अचानक सुनते हैं, तो आपका दिमाग सर्वप्रथम उसका सम्बन्ध कम्फर्ट से जोड़ देता है | यह बिल्कुल सही है कि टेक्नोलॉजी ने मनुष्य के जीवन को अत्यधिक आरामदायक बना दिया है | जैसे- जैसे मनुष्यों में पीढ़ी दर पीढ़ी विकास होता जा रहा है, वैसे ही विज्ञान के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी में भी विकास होता जा रहा है | टेक्नोलॉजी की मदद से मनुष्य संभवतः प्रत्येक कार्य को आसानी से कर सकता है |आज के समय में प्रयोग होने वाले उपकरण तथा सर्विसेज जैसे मोबाइल, कम्प्यूटर, इन्टरनेट, मोटरकार इत्यादि सभी टेक्नोलॉजी के ही उदाहरण हैं | जिनकी बजह से मनुष्य का जीवन अत्यधिक सरल तथा सुखद हो गया है | टेक्नोलॉजी क्या है, टेक्नोलॉजी कितने प्रकार की होती है तथा टेक्नोलॉजी के लाभ तथा हानियों के बारे में आगे आर्टिकल में हम विस्तार से जानेंगे |

टेक्नोलॉजी क्या है ?

What is technology in hindi – विज्ञान के क्षेत्र में वैज्ञानिक जानकारी का प्रयोग करके सफलतापूर्वक तैयार किये गए प्रत्येक उपकरण, कम्प्यूटर तथा मोबाइल एप्लीकेशन इत्यादि जिनकी सहायता से मनुष्य किसी भी कार्य को आसानी से कर पाए, टेक्नोलॉजी की मदद से ही संभव है |टेक्नोलॉजी शव्द मनुष्य के दिमाग की ही एक उपज है, जिसके अंतर्गत किसी भी वैज्ञानिक जानकारी को मनुष्य की सुविधाओं के लिए प्रयोग में लाया जाता है | इसी वैज्ञानिक जानकारी की मदद से कई ऐसे उपकरण बनाये जाते हैं, जिनसे मनुष्यों का काम आसान हो सके |

उदाहरण के लिए लैपटॉप, स्मार्ट फ़ोन इत्यादि उपकरणों को देख सकते हैं, ये सभी उपकरण वैज्ञानिक जानकारी होने के कारण मनुष्यों द्वारा ही बनाये गए हैं | इनकी मदद से मनुष्य बड़ी से बड़ी गणना तथा अन्य कठिन कार्यों को भी कम समय देकर आसानी से कर सकते हैं |वर्तमान समय में शिक्षा, चिकत्सा, मनोरंजन, संचार, कृषि, कृत्रिम बुद्धिमत्ता इत्यादि सभी क्षेत्रों में टेक्नोलॉजी का ही प्रयोग किया जा रहा है, और टेक्नोलॉजी के मदद से प्रत्येक क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर हो रहा है |

हिंदी में Technology का क्या मतलब है ?

Meaning of technology in hindi – टेक्नोलॉजी को हिंदी भाषा में प्रौधौगिकी कहा जाता है | प्रौधौगिकी को यदि आसान भाषा में समझा जाए तो कहा जा सकता है कि किसी भी कार्य को वैज्ञानिक जानकारी की मदद से आसान या सुविधाजनक बनाया जाना ही प्रौधौगिकी कहलाता है |टेक्नोलॉजी मनुष्य के दिमाग की उपज तथा हाथों की कला है, जिसका प्रयोग करके वह कई ऐसे आविष्कार करता है, जिनकी वजह से मनुष्य का जीवन सरल होता जा रहा है |

टेक्नोलॉजी का इतिहास

History of technology in hindi – टेक्नोलॉजी के इतिहास को किसी दिनांक या वर्ष में बता पाना बहुत जटिल होगा, क्योंकि यह माना जाता है कि टेक्नोलॉजी का इतिहास उतना ही पुराना है, जितना की मनुष्य का जीवन | आदिमानव काल में पत्थरों के हथियार बनाया जाना भी उस समय की टेक्नोलॉजी को दर्शाता है | आदिमानवों ने अपने समय में अपने कार्य को आसान बनाने के लिए पत्थरों के औजार बनाये थे, जो की एक महत्वपूर्ण आविष्कार माना जाता है |जैसे –जैसे पीढ़ियों में विकास हुआ तो उनके विकास के साथ उनकी सोच भी बदलती गयी, और सोच के अनुसार नयी- नयी खोज की जाने लगी | पहिये के आविष्कार को टेक्नोलॉजी के युग का प्राथमिक बिंदु बताया जाता है |आज के युग में टेक्नोलॉजी ने ऐसा रूप ले लिया है कि मानो मनुष्य का जीवन टेक्नोलॉजी पर ही निर्भर है | वर्तमान समय में टेक्नोलॉजी की मदद से ऐसे – ऐसे आविष्कार हो चुके हैं कि मनुष्य को किसी कार्य को करने के लिए शारीरिक बल लगाने की जरुरत ही नहीं पड़ती है | टेक्नोलॉजी के अपने कुछ फायेदे है, और कुछ नुकसान भी | आगे के आर्टिकल में हम टेक्नोलॉजी के फायेदे और इसके नुकसान के बारे में जानेंगे |

टेक्नोलॉजी के लाभ तथा नुकसान

Advantages and disadvantages of technology in hindi – टेक्नोलॉजी मनुष्य के लिए वरदान तो है ही किन्तु यदि कुछ नकारात्मक पक्षों को देखा जाए तो टेक्नोलॉजी मनुष्य के लिए अभिशाप भी है |

टेक्नोलॉजी के लाभ

Advantages of technology in hindi

  • दूरसंचार क्षेत्र में टेक्नोलॉजी की अहम् भूमिका है | इन्टरनेट और मोबाइल टेक्नोलॉजी की मदद से देश-विदेश में कहीं पर भी बैठे मनुष्य से आसानी से बात कर पाना संभव हो पाया है | पहले दूरसंचार के लिए चिट्ठी का प्रयोग किया जाता था, जिसमे सन्देश पहुँचने में काफी समय लग जाता था, किन्तु अब बिना समय गवाएं हम अपने सन्देश को दूर बैठे इंसान तक कुछ ही सेकेंडो में पहुँचा सकते हैं |
  • टेक्नोलॉजी के विकास के साथ मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में भी काफी सुधार आया है | इस क्षेत्र में कई प्रकार की ऑटोमेटिक मशीनें प्रयोग में लायी जाती हैं जो मनुष्य के काम को अत्यधिक आसान कर देती हैं |
  • चिकित्सा के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी वरदान साबित हुई है | टेक्नोलॉजी की मदद से इस क्षेत्र के लिए ऐसे-ऐसे आविष्कार हुए हैं, जो मनुष्य के जीवन को बचाने में सक्षम हैं |
  • मनोरंजन के क्षेत्र में भी टेक्नोलॉजी बहुत सहायक है क्योंकि इस क्षेत्र के लिए टेक्नोलॉजी की मदद से टेलीविज़न, वीडिओ गेम्स इत्यादि कई उपकरणों का आविष्कार हुआ है, जिनकी मदद से मनुष्य घर बैठकर भी अपना मनोरंजन कर सकता है |
  • ऑटोमोबाइल क्षेत्र में टेक्नोलॉजी की मदद से कार, साइकिल, मोटर साइकिल, बस, ट्रक इत्यादि वाहनों का आविष्कार संभव हो पाया है | इन सभी अविष्कारों की मदद से मनुष्य लम्बी से लम्बी दूरी को कम समय में तय कर सकता है, तथा भारी सामान को इधर- उधर कहीं भी आसानी से ले जा सकता है |
  • आधुनिक टेक्नोलॉजी की बजह से हमारा बैंक मानो हमारे घर ही आ गया हो, अब बैंक सम्बन्धी कार्य करने के लिए ग्राहक को किसी भी बैंक में उपस्थित होना जरुरी नहीं है | बैंक सम्बन्धी कई कार्य घर बैठकर भी ग्राहक आसानी से कर सकता हैं |

टेक्नोलॉजी के नुकसान

Disadvantages of technology in hindi

  • टेक्नोलॉजी के प्रयोग ने मनुष्यों के बीच की दूरी को बढ़ा दिया है | पहले यदि किसी से कुछ काम होता था तो उस काम के लिए व्यक्तिगत रूप से जाना पड़ता था, जिसकी बजह से उनके बीच के सम्बन्ध अछे रहते थे | किन्तु अब इन्टरनेट की मदद से वे घर बैठे- बैठे ही अपना सन्देश एक दूसरे तक आसानी से पहुँचा देते हैं |
  • टेक्नोलॉजी की मदद से कोई भी कार्य इतना ज्यादा आसान हो गया है कि अधिक शारीरिक क्षमता की आवश्यकता ही नहीं पड़ती है, जिसकी बजह से मनुष्य की शारीरिक क्षमता में आभाव देखने को मिलता है |
  • समय- समय पर होने वाले साइबर अटैक की बजह से मनुष्य की व्यक्तिगत जिन्दगी सुरक्षित नहीं रही है, क्योंकि साइबर अटैक के समय क्रिमिनल किसी भी मनुष्य का पर्सनल डेटा चुराकर उसे हानि पहुँचा सकता है |
  • टेक्नोलॉजी की मदद से हुए अविष्कारों में कुछ आविष्कार ऐसे भी हुए हैं, जो पर्यावरण के लिए हानिकारक साबित हो रहे हैं | पर्यावरण दूषित होने के कारण मनुष्यों का जीवन समय कम होता जा रहा है |

टेक्नोलॉजी का प्रयोग कहीं न कहीं मनुष्य के जीवन को प्रभावित कर रहा है , यदि आप टेक्नोलॉजी का सही इस्तेमाल करते हैं तो यह वरदान है, और यदि इसका उपयोग सही तरीके से ना किया जाये तो यही वरदान मनुष्यों के लिए अभिषाप बन जाता है 

टेक्नोलॉजी के प्रकार

Types of technology in hindi – वर्तमान समय में टेक्नोलॉजी का प्रयोग प्रत्येक क्षेत्र में संभव है, कार्य और कार्य के क्षेत्र के अनुसार टेक्नोलॉजी को विभाजित किया गया है | टेक्नोलॉजी को कितने भागों में बिभाजित किया गया है आगे के आर्टिकल में हम जानेंगे |

  1. Communication Technology (संचार प्रौधौगिकी)
  2. Medical Technology (चिकित्सा प्रौधौगिकी)
  3. Construction Technology (निर्माण प्रौधौगिकी)
  4. Entertainment Technology (मनोरंजन प्रौधौगिकी)
  5. Education Technology (शिक्षा प्रौधौगिकी)
  6. Agriculture Technology (कृषि प्रौधौगिकी)
  7. Artificial Intelligence Technology (कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौधौगिकी)
  8. Information Technology (सूचना प्रधौगिकी)

Communication Technology (संचार प्रौधौगिकी)

प्रत्येक मनुष्य के जीवन में संचार टेक्नोलॉजी का महत्वपूर्ण योगदान रहा है | संचार प्रधौगिकी की मदद से दुनिया भर में सूचनाओं का आदान- प्रदान संभव हो पाया है | वर्तमान समय में दोस्तों और सगे सम्बन्धियों के साथ संपर्क में रहने के लिए कम्प्यूटर, मोबाइल फ़ोन, ई- मेल, फैक्स, सोशल मीडिया में प्रयोग होने वाले मेसेजिंग टूल्स इत्यादि संचार प्रधौगिकी के अन्तर्गत तैयार उपकरणों तथा सर्विसेज का प्रयोग किया जा रहा है | यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि संचार प्रधौगिकी मनुष्य के जीवन को आसान बनाने में अत्यधिक सहायक है |

Medical Technology (चिकित्सा प्रौधौगिकी)

चिकित्सा प्रधौगिकी मानव जीवन के लिए वरदान साबित हुई है, इसके अन्तर्गत किये गए अविष्कारों की बजह से मानव जीवन को बचाने का प्रयास किया जा सकता है | मेडिकल टेक्नोलॉजी इतनी सफल हुई है किइसके अन्तर्गत कई ऐसी मशीने तैयार की गयी हैं, कि उन मशीनों द्वारा आसानी से रोगी के रोगों का पता लगाया जा सकता है, तथा उसके बाद डॉक्टरों द्वारा रोगी को बचाने का हर संभव प्रयास किया जा सकता है |चिकित्सा प्रधौगिकी का उपयोग रोगी के रोगों का इलाज करने तथा मनुष्यों को प्रभावित करने वाली बीमारीओं पर शोध कार्य करने हेतु किया जाता है |

Construction Technology (निर्माण प्रौधौगिकी)

निर्माण प्रधौगिकी के अन्तर्गत कई बड़े-छोटे उपकरण बनाये गए हैं, जिनकी मदद से ऊँची-ऊँची इमारतों का निर्माण संभव हो पाया है | निर्माण प्रधौगिकी के अन्तर्गत कई ऐसे सॉफ्टवेयर भी बनाये गए हैं, जिनकी मदद से किसी इमारत या किसी भी प्रोजेक्ट का 2 D और 3 D नक्शा आसानी से बनाया जा सकता है, और उसे फॉलो करके कार्य को अंजाम दिया जा सकता है |वर्तमान में शहरों में ऊँची-ऊँची इमारतों का बन पाना निर्माण प्रधौगिकी के अन्तर्गत तैयार किये गए उपकरणों तथा ऑटोमैटिक मशीनों की बजह से ही संभव हो पाया है | निर्माण प्रधौगिकी की बजह से निर्माण कार्य में होने वाली दुर्घटनाओं में भी काफी कमी देखी गयी है |

Entertainment Technology (मनोरंजन प्रौधौगिकी)

मनोरंजन के क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का बहुत बड़ा रोल है, तथा इस क्षेत्र में टेक्नोलॉजी का अत्यधिक विकास भी देखने को मिल रहा है | वर्तमान समय में मनोरंजन के अनुभव को बेहतर बनाने का प्रयास जोरो से किया जा रहा है, और नयी- नयी तकनीकों का प्रयोग करके मनोरंजन से सम्बंधित कई उपकरण दिन-प्रतिदिन बनाये जा रहे हैं | इस समय मनुष्य के दैनिक जीवन में मनोरंजन के कई साधन हैं, जैसे टेलीविजन, सिनेमाघर, वीडिओ गेम्स, मोबाइल, लैपटॉप, शोशल मीडिया, वीडिओ स्ट्रीमिंग इत्यादि ये सभी मनोरंजन के साधन हैं |

Education Technology (शिक्षा प्रौधौगिकी)

आज के समय में टेक्नोलॉजी का प्रयोग शिक्षा क्षेत्र में भी तेजी से किया जा रहा है, और यह टेक्नोलॉजी का प्रयोग बच्चों के भविष्य को सुधारने में काफी हद तक सहायक भी है | टेक्नोलॉजी की मदद से शिक्षा क्षेत्र के लिए ऐसे उपकरण तथा सॉफ्टवेयर बनाये गए हैं, जिनकी मदद से विद्यार्थी को कम समय में अधिक जानकारी दी जा सकती है |शिक्षा क्षेत्र में प्रयोग होने वाले उपकरणों में प्रोजेक्टर बिल्कुल सही उदाहरण है, इसकी मदद से कई विद्यार्थियों को एक साथ PPT (पॉवर पॉइंट प्रजन्टेशन) की मदद से कम समय में अधिक जानकारी दी जा सकती है |टेक्नोलॉजी की मदद से तैयार किये गए लैपटॉप, मोबाइल इत्यादि में इन्टरनेट की सहायता से विद्यार्थी किसी भी सवाल का जबाब स्वमं देख सकते हैं, जिससे उनके ज्ञान का विकास होता है | इसलिए यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि शिक्षा के क्षेत्र में प्रधौगिकी मुख्य रूप से अपनी भूमिका निभा रही है |

Agriculture Technology (कृषि प्रौधौगिकी)

कृषि प्रधौगिकी का कृषि क्षेत्र में बहुत योगदान रहा है, टेक्नोलॉजी की मदद से इस क्षेत्र के लिए तैयार किये गए उपकरण किसान के लिए अत्यधिक सहायक हैं | इन उपकरणों के प्रयोग से किसान विकास की ओर अग्रसर है | एग्रीकल्चर टेक्नोलॉजी का सबसे बड़ा उदाहरण तो ट्रेक्टर है, जो प्रत्येक किसान के लिए वरदान है, इसके प्रयोग ने किसान के काम को बहुत आसान कर दिया है | ट्रेक्टर तथा अन्य उपकरणों की मदद से किसान अधिक फसल तैयार कर पाता है, तथा उसे पहले जितनी म्हणत भी नहीं करनी पड़ती है | खेती के समय प्रयोग होने वाले उपकरण जैसे ट्रेक्टर, हार्वेस्टर, कल्टीवेटर इत्यादि की मदद से पारम्परिक तरीके से की जा रही खेती में काफी सुधार आया है, और प्रत्येक किसान कृषि में उत्पादन बढ़ाने में सक्षम हो पाया है |

Artificial Intelligence Technology (कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौधौगिकी)

कृत्रिम बुद्धिमत्ता प्रौधौगिकी आधारित कई डिवाइस तथा सॉफ्टवेयरों को तैयार किया गया है, जो मनुष्य की तरह सोचने और कार्य को अंजाम देने में सक्षम हैं | कृत्रिम बुद्धिमत्ता का उद्देश्य स्मार्ट मशीनों, सॉफ्टवेयर तथा भिन्न- भिन्न एप्लीकेशनों का निर्माण करना है, जो मनुष्य की तरह सोच सकें और स्वमं सही निर्णय लेकर किसी भी कार्य को पूरा कर सकें | वर्तमान समय में आर्टिफीसियल टेक्नोलॉजी पर अधिक ध्यान दिया जा रहा है, ताकि भविष्य में आने वाली पीढ़ी को और सुखद जीवन प्रदान किया जा सके |विश्व भर में आर्टिफिसियल टेक्नोलॉजी इतनी आगे बढ़ गयी है कि जापान में तो रियल बेबी का स्थान रोबोट बेबी ने ले लिया है | जापान की बढती जनसँख्या को नियंत्रण करने के लिए यहाँ के लोगों ने सादी, सेक्स और बच्चे पैदा करना बहुत कम कर दिया है | इसलिए छोटे बच्चों का प्यार पाने और ममता के एहसास के लिए यहाँ के वैज्ञानिकों ने KIROBO नाम का एक रोबोट तैयार किया है, जो हूबहू बच्चों जैसी हरकतें करता है, और माँ द्वारा पूछे गए सवालों का जबाब भी किसी बच्चे की आवाज में देता है |

Information Technology (सूचना प्रधौगिकी)

इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का प्रयोग जानकारी को सुरक्षित रखने और सुरक्षित डेटा का आदान-प्रदान और उसको प्रोसेस करने के लिए किया जाता है | इस टेक्नोलॉजी की मदद से सुरक्षित जानकारी को सही समय पर सही लोगों तक पहुँचाया जा सकता है |बैंक तथा बैंक जैसे ही कई अन्य संस्थानों में व्यवसाय को संचालित करने के लिए इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी का ही प्रयोग किया जाता है |


उम्मीद करते हैं कि “ टेक्नोलॉजी क्या है ? “ से सम्बंधित यह जानकारी आपको पसंद आई होगी | यदि आपको लगता है कि यह जानकारी भविष्य में भी किसी के काम आ सकती है, तो इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें, और यदि आप इसमें किसी भी प्रकार की त्रुटि पाते हैं तो कृपया हमें बताये, उस त्रुटि को सुधारने का हर सम्भव प्रयास किया जाएगा |

धन्यवादआपका दिन शुभ हो |


1 thought on “What is Technology in Hindi – हिंदी में जानिये टेक्नोलॉजी क्या है, और कितने प्रकार की होती है, तथा टेक्नोलॉजी के लाभ नुकसान क्या हैं?”

Leave a Comment